• Post author:
  • Post last modified:July 29, 2021
  • Reading time:2 mins read
  • Post category:Class 12

12th Biology question paper with answers in Hindi 

12th Biology question paper with answers in Hindi
Biology question paper in Hindi

Biology (set-2)


लघु
उत्तरीय प्रश्न (उत्तर के साथ)                               2अंक

                                                                             प्रश्न की संख्या-26
For class 12th
                       
1. लिंकेजऔरक्रॉसिंगकेबीचअंतर
              लिंकेज
             क्रॉसिंग over
1. लिंकेज एक गुणसूत्र के जीन को एक साथ रखता है
1. एक गुणसूत्र के जीन को अलग करके नए संयोगों को बनाना
2. जीन की निकटता के कारण linkage शक्ति बढ़ती है
2. पास के जीन के बीच क्रॉसिंग की आवृत्ति कम हो जाती है
3. यह संतान में मातापिता के चरित्र को बनाए रखता है।
3. यह संतान में मातापिता के चरित्र को बदल देता है
4. लिंकेज आनुवंशिकी द्वारा जीवों की नई किस्मों के निर्माण को रोकता है।
4. यह आनुवंशिकी द्वारा जीवों की नई किस्मों के निर्माण में मदद करता है
2. पार्थेनोजेनेसिस सेआपक्यासमझतेहैं?
Ans: – पार्थेनोजेनेसिस एक ऐसी प्रक्रियाहै जिसमें कुछ जीवों की मादा युग्मकजैसे रोटिफ़र्स, हनीबी और बर्ड्स (तुर्की), बिना निषेचन के नए जीवोंके निर्माण करते हैं।
3. बायोटेक्नोलॉजीकेसिद्धांतलिखिए।
उत्तर: – जैवप्रौद्योगिकी के सिद्धांत दोमुख्य तकनीकों पर आधारित हैं
(i) जेनेटिकइंजीनियरिंग यह जीन के manipulation काविज्ञान है। एक सख्त अर्थमें यह आनुवंशिक सामग्रीके रसायन विज्ञान में परिवर्तन, introduction into host और इस तरहhost के फेनोटाइप को बदलना शामिलहै।
  (ii) जैवरासायनिकउत्पादों, जैसे कि एंटीबायोटिक्स, टीके, एंजाइम आदि के निर्माण औरगुणन के लिए सड़नशीलस्थितियों में बड़ी मात्रा में वांछित माइक्रोब या यूकैरियोटिक कोशिकाके विकास के लिए समर्पित विज्ञान, जैव रासायनिकइंजीनियरिंगप्रक्रियाएं कहलIते हैं
4. इंटरफेरॉनऔरएंटीबॉडीकेबीचअंतरदें।
          इंटरफेरॉन
             एंटीबॉडी
1. ये किसी भी सूक्ष्म संक्रमित कोशिकाओं द्वारा निर्मित होते हैं।
1. ये केवल प्लाज्मा कोशिकाओं द्वारा निर्मित होते हैं।
2. ये कार्रवाई में तेज हैं, लेकिन रोगाणुओं के खिलाफ एक अस्थायी सुरक्षा प्रदान करते हैं।
2. ये कार्रवाई में धीमी हैं लेकिन एंटीजन के खिलाफ लंबे समय तक सुरक्षा प्रदान करते हैं।
3. ये कोशिकाओं के अंदर कार्य करते हैं।
3. ये कोशिकाओं के बाहर कार्य करते हैं।
4. शरीर की रक्षा की दूसरी पंक्ति तैयार करना।
4. शरीर की रक्षा की तीसरी पंक्ति के रूप में।
5. शुक्राणुजननकेनियमनमेंशामिलहार्मोनकानामबताइए।
Ans: – हार्मोन शुक्राणुजनन के नियमन मेंएक follicle उत्तेजक हार्मोन (F.S.H.) और ल्यूनेटाइजिंग हार्मोन(L.H.) के विनियमन में शामिल होते हैं, जो पिट्यूटरी ग्रंथि द्वारा स्रावित होते हैं।
जोहाइपोथैलेमस से स्रावित GnRH के प्रभाव में स्रावित होते हैं।
6. युग्मकजननऔरभ्रूणजननकेबीचअंतर?
          युग्मकजनन
             भ्रूणजनन
1. युग्मकजनन से तात्पर्य दो प्रकार के युग्मक, नर और मादा के गठन की प्रक्रिया से है।
1. भ्रूणजनन ज़ीगोट से भ्रूण के विकास की प्रक्रिया को संदर्भित करता है।
2. इसमें अर्धसूत्रीविभाजन की प्रक्रिया के माध्यम से द्विगुणित मायियोसाइट्स से अगुणित नर और मादा युग्मकों का निर्माण शामिल है।
2. इसमें द्विगुणित युग्मनज के बारबार समसूत्री विभाजन से भ्रूण का विकास शामिल है।
7. जन्मजातऔरएक्वायर्डइम्युनिटीकेबीचअंतर?
उत्तर: – जन्मजात प्रतिरक्षा शरीर की एक प्रकारकी गैरविशिष्ट सुरक्षा है जो जन्मसे बनी रहती है जबकि अधिग्रहितप्रतिरक्षा रोगजनक विशिष्ट है जिसमें प्राथमिक और द्वितीयक प्रतिक्रियाएँहोती हैं जो प्राथमिक प्रतिक्रियाओंकी स्मृति पर निर्भर करतीहैं
8. दोहरेनिषेचनकाक्यामहत्वहै?
उत्तर: – दोहरे निषेचन का महत्व: –
(i) एंजियोस्पर्मिक पौधों में डबल निषेचन बहुत महत्वपूर्ण है। यदि पौधों में केवल syngamy होता है और ट्रिपलफ्यूजन नहीं होता है, तो केवल, 3 युग्मजबनेंगे। एंडोस्पर्म का गठन नहींकिया जाएगा और इसके परिणामस्वरूपअविकसित भ्रूण या भ्रूण केबिना बीज होगा।
(ii) एंडोस्पर्म का निर्माण दोहरेनिषेचन के कारण होताहै जो भ्रूण कोपोषण प्रदान करता है और इसमेंमातृ और पैतृक गुणसूत्रहोते हैं। आंतरिक एंडोस्पर्मिक कोशिकाओं में संकर शक्ति के कारण एकशरीर शारीरिक आक्रामकता दिखाता है।
9. सहप्रभुत्व (co-dominance) क्या है? समझाएँ
उत्तर: – सहप्रभुत्व मेंजीन के दोनों प्रमुखएलील स्वयं को F1 संकर में समान रूप से व्यक्त करतेहैं। फेनोटाइपिक अनुपात जीनोटाइपिक अनुपात, एक समान होता है अर्थात संतानोंके F2 पीढ़ी में 1: 2: 1
10. बीटीकपास (bt cotton) क्या है?
Ans: – Bt कॉटन: – Bt एक प्रकार काविष है, जो बेसिलस थुरिंगिएन्सिससे प्राप्त होता है। इसे संक्षिप्त रूप में बीटी कहा जाता है। बीटी विष जीन बैक्टीरिया से क्लोन कियागया है और पौधोंमें कीटनाशक की आवश्यकता केबिना कीड़ों से प्रतिरोध प्रदानकरने के लिए व्यक्तकिया गया है। बीटी विष जीनों को बेसिलस थुरिंगिनेसिससे अलग किया गया था और कपासजैसे कई फसल पौधोंमें शामिल किया गया था।
11. रेडियोसक्रियप्रदूषणक्याहै? रेडियोसक्रियप्रदूषणकेस्रोतक्याहैं?
Ans: – रेडियोधर्मीप्रदूषण रेडियम, थोरियम, यूरेनियम जैसे कुछ तत्व प्रोटॉन (अल्फा कण) इलेक्ट्रॉनों (बीटा कणों) और गामा कणोंका उत्सर्जन परमाणु नाभिक के disintegration से करते हैं। इस घटना कोरेडियोधर्मिता कहा जाता है और इनतत्वों को रेडियोधर्मी केरूप में जाना जाता है। जब रेडियोधर्मी विकिरणजल, वायु, मिट्टी और खाद्य पदार्थोंको दूषित करते हैं तो इसे रेडियोधर्मीप्रदूषण कहा जाता है।
12. अम्लवर्षा(acid rain) के प्रभाव लिखिए।
Ans: – अम्ल वर्षा के प्रभाव: –
(i) अम्लीयवर्षा उदाहरण के लिए अम्लोंके जमाव के कारण कईधरोहर स्मारकों को नुकसान पहुंचातीहै। स्टैचू ऑफ़ लिबर्टी, ताज महल आदि।
(ii) अम्लीयवर्षा उपयोगी मृदा माइक्रोबियल समुदाय को मारती है, जिससे स्थलीय पारिस्थितिकी तंत्र को नुकसान होताहै।
(iii) जलीयपारिस्थितिकी तंत्र में 5 pH से नीचेअम्लीय वर्षा से प्लवक, मोलसऔर मछलियों की मृत्यु होजाती है, इसलिए यह खाद्य श्रृंखलाको विचलित कर देती है।
13. संपर्क निषेध (contact inhibition) बताइए?
उत्तर: – अनियंत्रित कोशिका विभाजन और प्रोलाइज़ेशन वृद्धि और गुणन कैंसर कोशिकाओं और कैंसर रोग का संकेत है, कैंसर कोशिकाओं को घातक नवोप्लाज्म कहा जाता है, जो पड़ोसी कोशिकाओं पर विकसित होते हैं (उनसे पोषक तत्वों को लेने से) बढ़ते हैं और multiplication करते हैं। अंत में ये कैंसर कोशिका पड़ोसी कोशिका को मार देती है। ये cancerousकोशिकाएं जब सामान्य कोशिका के संपर्क में आती हैं, तो वे इन कोशिकाओं के विकास और गतिशील को रोकती हैं। कैंसर कोशिकाओं की इस property को संपर्क निषेध कहा जाता है।
14. IUD क्या है? यह कैसे काम करता है ?
Ans: – इंट्रा यूटेराइन डिवाइसेस (IUD) को योनि के माध्यम से गर्भाशय में डॉक्टरों या विशेषज्ञ नर्सों द्वारा डाला जाता है। उदाहरण के लिए, ये अलग-अलग प्रकार के होते हैं (1) नॉन मेडिकेटेड आईयूडी (जैसे। लिप्स लूप), (2) कॉपर रिलीज करने वाले आईयूडी (Cu-T, Cu-T Multiload 375) और (3) हार्मोन रिलीज करने वाला IUD (प्रोजेस्टेसर्ट, LNG-) 20)। आईयूडी गर्भाशय के भीतर शुक्राणुओं के फागोसाइटोसिस को बढ़ाते हैं और जारी किए गए आयन आयन शुक्राणु की गतिशीलता और शुक्राणुओं की निषेचन क्षमता को दबाते हैं। इसके अलावा, आईयूडी जारी करने वाला हार्मोन, गर्भाशय को गर्भ के लिए अनुपयुक्त बनाता है।  आईयूडी उन महिलाओं के लिए आदर्श गर्भनिरोधक हैं, जो गर्भावस्था में देरी करना चाहती हैं।
15. कैंसर कोशिकाओं की मुख्य विशेषताएं क्या हैं? के बारे में बताएं।
उत्तर: – कैंसर कोशिका की मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित हैं-
(a) कैंसर कोशिकाओं की अपनी अपरिवर्तनीय प्लाज्मा झिल्ली होती है, लेकिन कभी-कभी कोशिका की सतह पर म्यूकोपॉलीसेकेराइड का गठन देखा जाता है।
(b) कैंसर कोशिकाओं के साइटोप्लाज्म में विभिन्न प्रकार के सेल समावेश होते हैं।
(c) कैंसर कोशिकाओं में सूजन वाले माइटोकॉन्ड्रियन देखे जाते हैं।
(d) न्यूक्लियस अपनी बढ़ी हुई आकृति दिखाता है। बाहरी झिल्ली अनियमित है।
(e) नाभिक में क्रोमैटिन कणिकाओं को अनियमित रूप से वितरित होते हैं।
16. ट्रैंक्विलाइज़र क्या है? इसे उदाहरण सहित समझाइए।
उत्तर: – ड्रग्स, जिनका उपयोग मानसिक तनाव और चिंताओं के रोगियों में किया जाता है उन्हें ट्रैंक्विलाइज़र कहा जाता है। उदाहरण के लिए:-
(i) बेंज़ोडायज़ेपींस – मानसिक रोगी के मामले में उपयोग किया जाता है और उन्हें मानसिक शांति दी जाती है।
(ii) फेनोथियाजाइन्स – यह रोगी को उत्तेजित करता है और मानसिक चिंता को मिटाकर मानसिक शांति देता है।
(iii) रिसर्पाइन – यह राउल्फ़ॉर्फ़िया सर्पिना से प्राप्त होता है और मानसिक तनाव और चिंता में बहुत प्रभावी होता है।
17. Killer टी-सेल कैसे कार्य करता है?
Ans: – T- कोशिकाएं सीधे हमला करती हैं और एंटीजन को नष्ट करती हैं। इस प्रक्रिया में, ये कोशिकाएं आक्रमण की जगह पर जाती हैं और ऐसे रसायन उत्पन्न करती हैं जो फागोसाइट्स को आकर्षित करते हैं और उन्हें उत्तेजित करते हैं ताकि वे एंटीजन पर अधिक सख्ती से भोजन कर सकें। वे ऐसे पदार्थों का भी उत्पादन करते हैं जो अन्य टी-कोशिकाओं को आकर्षित करते हैं।
18. ड्रगसेआपकाक्यामतलबहै? उदाहरणकेसाथइसकेदोप्रकारबताइए?
Ans: – वे पदार्थ जोmen की शारीरिक परेशानी और बीमारी कीस्थिति की रोकथाम, निदानऔर परीक्षण में उपयोगी होते हैं, उन्हें ड्रग कहा जाता है।
शरीरपर दवाओं के प्रभाव केआधार पर दो प्रकारके होते हैं
(a) साइकोट्रोपिकड्रग ये दवाएं सीधे मस्तिष्क को प्रभावित करतीहैं और प्रकृति मेंपरिवर्तन का कारण बनतीहैं। इसलिए इन दवाओं कोमूड अल्टरनेटिंग ड्रग कहा जाता है। उदाहरण के लिएकैफ़ीन, कोकीन, एफ़िम, मॉर्फिन और हेरोइन आदि।
(b) साइकेडेलिकदवा ये दवाएं केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को प्रभावित करतीहैं और मतिभ्रम काकारण बनती हैं। उदाहरण के लिएएलएसडी, भंग, गांजा, चरस आदि।
19. प्लेसेंटाद्वारास्रावितहार्मोनक्याहैं?
उत्तर: – प्लेसेंटा द्वारा स्रावित हार्मोन हैं
(a) मानव कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन (एचसीजी)
(b) मानव अपरा लैक्टोजन (एचपीएल)
(c) एस्ट्रोजन
(d) प्रोजेस्टोजेनआदि।
20. स्तनपानक्याहै?
Ans: – मादा की स्तन ग्रंथियाँगर्भावस्था के दौरान विभेदनकरती हैं और स्तनपान करानेकी प्रक्रिया द्वारा गर्भावस्था के अंत तकदूध का उत्पादन शुरूकर देती हैं।
21. ऑस्ट्रलोपिथिसिनमैनकीउत्पत्तिऔरदोमुख्यविशेषताएंक्याथी?
उत्तर: – लगभग दो मिलियन सालपहले, पूर्वी अफ्रीका के घास केमैदान में ऑस्ट्रलोपिथेथिसिन की उत्पत्ति हुईथी। दो महत्वपूर्ण विशेषताएंथीं
(a) उन्होंनेशिकार में पत्थर से बने हथियारोंका इस्तेमाल किया।
(b) वेherbivorous थे।
22. समजातअंगऔरअसमजातअंगक्याहै?
Ans: – समजातअंग जिन अंगों की एक हीमौलिक संरचना होती है लेकिन कार्योंमें अलगअलग होते हैं उन्हें समजात अंग कहते हैं। ये अंग अपनेविकास के दौरान संगठनकी उसी मूल योजना का पालन करतेहैं। मेंढक, छिपकली, कबूतर और व्हेल केपूर्व forelimbs में एक ही मूलसंरचना है लेकिन इनजानवरों के अग्र limbsका आकार और कार्य अलगअलग है।
असमजात अंग वे अंग जिनके समान कार्य होते हैं लेकिन उनके संरचनात्मक विवरण और मूल मेंभिन्न होते हैं, उन्हें असमजात अंग कहा जाता है। पूर्वएक कीट केपंखों की मूल संरचनाएक पक्षी के पंखों सेअलग होती है, बैट और टेरोडक्टाइल हालांकि, उनके कार्य समान होते हैं।
23. लैमार्ककाtheroyकिनतथ्योंपरआधारितहै? इसेलिखो।
उत्तर: – लैमार्क का सिद्धांत निम्नलिखिततथ्यों पर आधारित है
(a) आकारमें वृद्धि की प्रवृत्ति।
(b) पर्यावरणका प्रत्यक्ष प्रभाव।
(c) अंगोंके उपयोग और उपयोग काप्रभाव।
(d) Inheritance of acquired characters
24. बाहरीनिषेचनकोपरिभाषितकरें।इसकेनुकसानोंकाउल्लेखकरें।
Ans: – बाहरी निषेचन को मादा केशरीर के बाहर डिंबके साथ शुक्राणु के संलयन केरूप में परिभाषित किया गया है। आमतौर पर यह पानीमें होता है। मेंढकों में
नुकसान: –
(a)संतान शिकारियों के लिए बेहदअसुरक्षित हैं और इस तरहवयस्कता तक उनके अस्तित्वको खतरा है।
(b) बाहरी वातावरण में भ्रूण का विकास जैसेकि पानी का बहाव, बारिशआदि जैसी जलवायु परिस्थितियों में प्रतिकूल परिवर्तन के कारण लुप्तप्रायहै।
25. बीओडीक्याहै?
Ans: – जैविक ऑक्सीजन डिमांड (BOD) सूक्ष्म जीव द्वारा एक लीटर पानीमें कार्बनिक पदार्थों को ऑक्सीकरण करनेके लिए आवश्यक ऑक्सीजन की मात्रा काप्रतिनिधित्व करता है। जब भी अनुपचारितसीवेज को प्राकृतिक जलजैसे नदियों आदि में निपटाया जाता है, तो पानी मेंमौजूद घुलित ऑक्सीजन की सामान्य मात्रासूक्ष्मजीव द्वारा जल्दी उपयोग में जाती है।बीओडी का उच्च मूल्यकार्बनिक पदार्थों द्वारा अत्यधिक प्रदूषित पानी का एक संकेतकहै। बीओडी के कम मूल्यका मतलब है कि पानीतुलनात्मक रूप से कम प्रदूषितहै।
26. जैवविविधताकेतीनमहत्वपूर्णघटकोंकानामबताइए।
Ans: – जैव विविधता के तीन महत्वपूर्णघटक हैं: –
() आनुवंशिक जैव विविधता
(b) प्रजातिजैव विविधता
(c) पारिस्थितिकजैव विविधता